सगे भतीजे की गोली मारकर हत्या,पुलिस ने किया अभियुक्तों को गिरफ्तार



◆ *जनपद बागपत के ग्राम धनोरा सिल्वर नगर में जमीनी लालच के चलते ताऊ द्वारा सगे भतीजे की गोली मारकर हत्या की घटना का सफल अनावरण,  पहले दी थी आत्महत्या की सूचना, दो हत्यारोपी आलाकत्ल पिस्टल सहित गिरफ्तार।* 


*गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम व पता-* 

1-विनोद पुत्र रणजीत निवासी ग्राम धनोरा सिल्वर नगर थाना बिनोली जनपद बागपत।

2-सचिन पुत्र विनोद निवासी ग्राम धनोरा सिल्वर नगर थाना बिनोली जनपद बागपत।

*बरामदगी का विवरण :-*

1-आलाकत्ल  एक पिस्टल 32 बोर नाजायज 02 जिंदा व एक खोखा कारतूस

 *घटना का संक्षिप्त विवरण व पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही :-* 

दिनांक 08/05/2021 को थाना बिनोली पर आवेदक पिंटू पुत्र वीरपाल निवासी धनौरा सिल्वर नगर ने लिखित सूचना दी कि रात्रि करीब 22:00 बजे उसके भाई राहुल उम्र 26 वर्ष ने स्वयं की गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। इस सूचना पर श्री अभिषेक सिंह पुलिस अधीक्षक बागपत के निर्देशन में श्री मनीष मिश्र अपर पुलिस अधीक्षक बागपत, श्री अनुज मिश्रा क्षेत्राधिकारी बागपत के नेतृत्व में थाना बिनौली पुलिस द्वारा किए गए घटनास्थल के निरीक्षण, उपलब्ध साक्ष्य एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर प्रकरण आत्महत्या की बजाय हत्या परिलक्षित होने के कारण उप निरीक्षक राम किशन सिंह की तहरीर पर हत्या का अभियोग मु0अ0 सं0 165/2021 धारा 302, 201पंजीकृत कर विवेचना आरंभ की गई तो विवेचना से मृतक राहुल के हिस्से की जमीन बेचने के विवाद को लेकर हत्या करने के उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर प्रकाश में आए अभियुक्त विनोद पुत्र रणजीत व सचिन पुत्र विनोद निवासी ग्राम धनोरा सिल्वर नगर को गिरफ्तार किया गया है। अभियुक्तों की निशादेही पर हत्या में प्रयुक्त एक पिस्टल 32 बोर नाजायज 02 जिंदा व एक खोखा कारतूस बरामद  हुआ है। हत्या में संलिप्त अभियुकता मुन्नी अभी फरार है।

 *पूछताछ से प्रकाश में आए तथ्य :-*

अभियुक्त विनोद व सचिन से पूछताछ में प्रकाश में आया कि मृतक राहुल अभियुक्त विनोद के सगे भाई वीरपाल का लड़का है, मृतक राहुल के दो अन्य भाई पिंटू व अक्षय एवं एक बहन गुड़िया है। राहुल व गुड़िया की बचपन से ही परवरिश उनके मामा प्रमोद निवासी तुगाना द्वारा की गई। वर्ष 1998 में मृतक राहुल के पिता वीरपाल की हत्या कर दी गई, तथा वर्ष 2003 में राहुल की मां श्रीमती मुनेश की हत्या राहुल के ताऊ विनोद उक्त के द्वारा कर दी गई थी। इस हत्या का मुकदमा अपराध संख्या 127/2003 धारा 302 पंजीकृत किया गया। इस अभियोग में राहुल के ताऊ विनोद व राजकुमार को आजीवन कारावास की सजा हुई थी। विनोद वर्ष 2005 से जमानत पर चल रहा था। मृतक राहुल व उसके भाइयों के पास कुल 15 बीघा जमीन है। अब से करीब 15 दिन पूर्व मृतक राहुल अपने भाई पिंटू के साथ अपने ताऊ विनोद के घर पर रहने लगा था । मृतक का ताऊ विनोद राहुल के हिस्से की 5 बीघा जमीन बिकवा कर कोई कारोबार करने की बात कर रहा था, तो राहुल ने मना कर दिया। इसी बात को लेकर दिनांक 08/05/ 2021 को विनोद के कहने पर उसके लड़के सचिन ने पिस्टल से राहुल के सीने में गोली मार दी । जिससे राहुल की मौके पर ही मृत्यु हो गई। विनोद की पत्नी मुन्नी ने घटनास्थल पर पड़े खून को नाली में बहा कर सबूत मिटाने का काम किया। अभियुक्त विनोद व सचिन द्वारा मृतक के भाइयों को भयभीत कर दिया गया। जिस कारण मृतक के भाई अपने ताऊ के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराने का साहस नहीं जुटा सकें।


                 *पी0आर0ओ सैल* 

                 *जनपद बागपत।*

Post a Comment

0 Comments