ड्राइव-थ्रू वैक्सिनेशन अभियान में उड़ी गाइडलाइंस की धज्जियाँ : माईकल सैनी



ड्राइव-थ्रू वैक्सिनेशन अभियान में उड़ी गाइडलाइंस की धज्जियाँ : माईकल सैनी

गुडगांवा जिला उपायुक्त महोदय द्वारा नए गुरुग्राम वासियों के लिए एमजी रोड पर विशेष रूप से चलाई जाने वाली ड्राइव-थ्रू  मुहिम की सूचना उनके ट्वीटर ह चली वैसे ही जंगल में आग की तरह यह खबर शोशल मीडिया के माध्यम से पूरे शहर में फैल गई  और देखते ही देखते लोगों का हुजूम इकट्ठा हो गया !



महामारी की दूसरी लहर में मौत का तांडव - उसके कहर को देख  लोगों में अपनी जान की अमान ( सुरक्षा ) को प्राथमिकता देने के लिए संजीवनी बताई जा रही वैक्सीन को लेने की होड़ सी मच गई   जिसका प्रमुख कारण रहा जिले में पहली बार 18-45 आयु वर्ग वालों को वैक्सीन का लगाया जाना , अब डर कहें या उत्सुकता  हर कोई अपने आप की सुरक्षा सुनिश्चित कर लेना चाहता था  !

एमजी रोड पर चारों ओर से उमड़ी भीड़ से वहां ट्रैफिक जाम तो हुआ ही  बल्कि घँटों इंतजार भी किया , लोग अलसुबह से ही वहां जुटना शुरू हो गए थे  चूंकि सभी चाहते थे कि उनको पहले लगे डोज   मगर वहां भी सिफारिशों वाले अपनी बारी जल्दी आ जाने के लिए लाइने तोड़ते दिखाई दिए  हालांकि मौके पर मौजूद वॉलिंटियर्स की टीमों के साथ हरियाणा के पुलिस के जवानों की तैनाती भी नोडल अधिकारी के साथ की गई थी  मगर युवाओं की वैक्सिनेशन के प्रति उत्सुकता ने  सभी व्यवस्थाओं को ध्वस्त कर दिया , मोटरसाइकिल स्कूटी सवार लोगों को वैक्सीन नहीं लगने की बात कहे जाने से वहां पर माहौल गर्म हो गया जब्कि प्रशासन द्वारा तर्क भी दिया गया कि डोज लगने के बाद आधा घंटा आराम करना पड़ता है इसलिए गाड़ी वालों को ही प्राथमिकता दी जाएगी  तथा डोज की संख्या भी 500 ही है  जिससे आग बबूला हो गए लोग वहां पर और हो भी क्यों नहीं भीषण गर्मी का मौसम जो ठहरा  ! अब सवाल यह उठता है कि क्या डीसी साहब ट्वीटर पर स्पेस कम मिलने के कारण पूरी जानकारी नहीं दे पाए  या जब तक स्तिथियाँ बिगड़ न जाएं तब तक समझ में नहीं आती हैं बातें ?

कोरोना जैसी घातक महामारी से बचाने के लिए ही तो लोगों को वैक्सिन्स दी जा रही हैं  सभी सावधानियां बरतते हुए  और इसलिए शायद बाजारों को भी बंद रखा गया  लोगों की दिनचर्या की जरूरतें ,व्यवस्थाओं को आपने ताला लगा दिया और लोगों ने आपकी गाइडलाइंस का पालन भी किया और कर रहे हैं मगर आप क्या कर रहे हैं ?

एक अधूरी सूचना के फैलने के कारण वहाँ हुजूम जुड़ गया , शोशल डिस्टेंसिंग की बातें जिन्हें आप सख्ती से पालना कराते आने की बातें करते आए हैं  फिर यह आज का मंजर क्या कहता है , क्या ऐसे भीड़ से कोरोना संक्रमितों की संख्या नहीं बढ़ेगी ?

तरविंदर सैनी (माईकल ) समाजसेवी गुरुग्राम  अपनी साइबर सिटी के प्रशाशनिक अधिकारियों से निवेदन करते है कि जनता को सही जानकारी दें कि आज की यह मुहिम केवल नए गुरुग्राम के अमीर लोगों के लिए है , डोज की संख्या इतनी है  केवल गाड़ियों वाले ही पहुंचे , बगैर गाड़ी वालों के जीवन को बाद में बचाया जाएगा ,  अर्थात ऐसा करने से लोगों की भीड़ भी नहीं लगेगी और संक्रमण भी कम होगा और नोडल अधिकारीयों व पैरामेडिकल स्टाफ के हाथ-पांव भी नहीं फूलेंगे  तथा आपकी बनाई गाइडलाइंस का उलंघन भी नहीं होगा और लोग शमशानों से स्थान पर पार्किंगों में फूंकने से भी बच जाएंगे ।

हे मेरे गुरुग्राम के काबिल होनहार अधिकारियों बचा लीजिए मेरे गुरुग्रामवासियों की जानें , कहीं फिर से हमें वह दुखदाई मंजर न देखना पड़ जाए इसलिए सही समय पर सही निर्णय लें और हमें कृतार्थ करने की कृपा करें ।।0

Post a Comment

0 Comments