एक हजार कुंआरी लड़कियों को अपने हवस का शिकार बनाना चाहता था योग प्रशिक्षक, इस लालच में फंस जाती थी युवतियां

 

रोमानिया के भगोड़े योग प्रशिक्षक ग्रेगोरियन बिवोलारू को फ्रांस में गिरफ्तार कर लिया गया है। ग्रेगोरियन पर आरोप है कि उसने विशेष शक्तियां पाने के लिए एक हजार वर्जन लड़कियों से संबंध बनाने की कोशिश की थी। 64 वर्षीय योग प्रशिक्षक को 2013 में अदालत ने एक नाबालिग से संबंध बनाने के आरोप में 6 साल कैद की सजा सुनाई थी। लेकिन बिवोलारू यहां से फरार हो गया था।



विदेशी मीडिया के मुताबिक ग्रेगोरियन के योग स्कूल में करीब एक हजार मेंबर थे। योग प्रशिक्षक पर समूह सेक्स को प्रोत्साहित करने के आरोप भी हैं।  ग्रेगोरियन पर आरोप है कि वह तांत्रिक ज्ञान देने के बदले 15 साल से कम उम्र की वर्जिन लड़कियों संग सेक्स की डिमांड करता था।

बता दें कि योग प्रशिक्षक  ग्रेगोरियन बिवोलारू ने 1990 के दशक में योग संगठन एमआईएसए की स्थापना की थी। ग्रेगोरियन  को अभी फ्रांस में ही हिरासत में रखा गया है, जहां जज उसे रोमानिया को प्रत्यर्पित करने को लेकर फैसला करेंगे। इससे पहले ग्रेगोरियन  को स्वीडन में हिरासत में लिया गया था, लेकिन उसे राजनीतिक शरणार्थी का दर्जा दे दिया गया था। ग्रेगोरियन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली अराबेला मारकेज इन दिनों पुर्तगाल में  हैं। उनका कहना है कि योग प्रसिक्षक ने उस दौरान उनके साथ संबंध बनाए थे, जब वह 15 साल से भी कम उम्र की थीं।


अराबेला ने कहा, ‘ग्रोगोरियन कहता था कि यदि तुम योग प्रशिक्षक  के तौर पर मेरे साथ शारीरिक संबंध बनायोगी तो तुम्हें तांत्रिक अध्यात्म का अधिकतम शक्तियां प्राप्त होंगी।  अराबेला ने बताया कि योग प्रशिक्षक के आवास वाली बिल्डिंग में कई लड़कियां रहती थीं, जिनके साथ वह कुछ दिनों तक सेक्स करने के बाद उन्हें दूसरे स्थान पर शिफ्ट कर देता था, इसके बाद  उनकी जगह दूसरी लड़कियां ले आता था।

Post a Comment

0 Comments