मेडिकल कॉलेज नहीं छलावा था मोदी जी द्वारा शिलान्यास करना ? माईकल सैनी



मेडिकल कॉलेज नहीं छलावा था मोदी जी द्वारा शिलान्यास करना ? माईकल सैनी 


भाजपा की पिछली सरकार के कार्यकाल में 29/6/2017 को मुख्यमंत्री जी द्वारा घोषणा की गई  खेड़की माजरा में  श्री माता शीतला मेडिकल कॉलेज की , जिसकी क्षमता 700 बैडस की बताई गई और 250 एमबीबीएस सीटों की व्यवस्थाओं वाला सुपर स्पेशियलिटी मेडिकल कॉलेज गुरुग्राम नगर निगम की करीब 39 एकड़ जमीन पर बनाया जाना था , जिसकी अनुमानित लागत भी 700 करोड़  रुपए मंजूर की गई थी  मगर उक्त रकम को नाकाफी समझते हुए सरकार ने बगैर कार्य शुरू किए ही  बजट में 291 करोड़ का इजाफा कर दिया , साथ ही करीब 34 करोड़ की अतिरिक्त धनराशि शीतला श्राइन बोर्ड से दी गई ! अब सवाल उठता है कि जमीन भी नगर निगम के पास उपलब्ध थी और सांसद श्री राव इंद्रजीत सिंह तथा स्थानीय विधायक श्री राकेश जी व समस्त प्रशाशनिक अमला भी सरकार के एक इशारे पर चलने वाला मौजूद था , कोई राजनीतिक खींचतान के भी नहीं थी , पर्यावरण का विषय भी नहीं था , कोई पीआईएल भी नहीं डाली गई थी , फिर केंद्रीय नेतृत्व के मार्गदर्शन में स्वतंत्र रूप से चल रही खट्टर सरकार फैंसले लेकर काम क्यों नहीं चला पा रही थी वहाँ साइट पर ?  

क्या कारण रहा कि 07/09/2018 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शिलान्यास किए जाने उपरांत भी आजतल्क कॉलेज की एक ईट भी नहीं लग पाई ?

क्या यह शिलान्यास किया जाना सूबे की जनता को भृमित करने वाला तो नहीं  अर्थात जुमला तो नहीं ? 



यदि नहीं तो फिर मनोहर सरकार कार्य का शुभारंभ क्यों नहीं कराती  जब्कि जनता ने देखा भी है कि मोदी जी द्वारा एक बार शिलान्यास कर दिया गया तो फिर मुहूर्त शुभ-अशुभ नहीं देखा जाता है  केवल विकास कार्य चलता दिखाई देता है !

अब आप प्रभु श्री राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन को ही देख लीजिए  या फिर पोस्टरों व एड में श्रीराम की उंगली पकड़े हुए मंदिर ले जाने वाले महाभट के बन रहे नए आलीशान घर अर्थात सेंट्रल-विस्टा के निर्माण कार्य की गति को ही देख लीजिए - किसी प्रकार की कोई ढील नहीं बरती जा रही है  बल्कि युद्धस्तर पर दिन-रात मिलाकर तीनों शिफ्टों में कार्य प्रगति पर है  फिर इस मेडिकल कॉलेज के नाम का ही आर,सी,सी और ठेकेदार नहीं मिल रहे ?

भाजपा कार्यालयों का निर्माण जिन ठेकेदारों से करवाया था उन्हीं को टेंडर जारी कर दिए होते आखिरकार उन्होनें भी तो रिकॉर्ड समय में असंख्य बीजेपी हैडक्वार्टरों का निर्माण कर डाला था  प्रदेश सरकार के निर्देशन में ?


बकौल तरविंदर सैनी (माईकल ) समाजसेवी गुरुग्राम का मानना है कि काम सब हो जाते हैं यदि करने की इच्छा होती है तो  मगर देश व प्रदेश सरकार गुरुग्राम शहर को केवल लूट रही हैं  यहां विकास कार्यो के नाम पर कोरे आश्वासन, झूठी घोषणाएं  और जुमलों का लॉलीपॉप है छलावे हैं ,झूठे प्रलोभन हैं - वरना मनेठि एम्स , भाँगरोला यूनिवर्सिटी , सामान्य अस्पताल , नया बस स्टैंड और श्री माता शीतला मेडिकल कॉलेज कभी के बनकर तैयार हो गए होते ,  मगर जब इस सरकार से सामान्य अस्पताल ही नहीं बन पाया तो मेडिकल कॉलेज की उम्मीद रखना बेमानी है , अपने आप से किया जाने वाला छल है  धोखा है  क्योंकि इस सरकार की कोई नियत नहीं नीति नहीं गुरुग्राम के लोगों को सुविधाएं देने की दिशा में ।।

Post a Comment

0 Comments