समाज सेविका हेमलता पटेल नें अपने पिता स्वर्गीय लेखक दयाराम वैद्य जी को किया नमन

फतेहपुर : पितृ दिवस विशेष 

समाज सेविका हेमलता पटेल नें अपने पिता स्वर्गीय लेखक दयाराम वैद्य जी को किया नमन |



समाज सेवा हेतु बचपन से ही मिली पिता जी से प्रेरणा : हेमलता पटेल


गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक की अध्यक्ष और सुजानपुर गाँव की दूसरी बार निर्वाचित हुई ग्राम प्रधान हेमलता पटेल से पितृ दिवस के अवसर पर खास बातचीत के कुछ स्नेहिल एवं प्रेरणादायक अंश |



हेमलता पटेल जिनका जन्म उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र में बाँदा जिले  के तारा गाँव में सुप्रसिद्ध वैद्य दयाराम जी के घर में हुआ था | अपने भाई बहनों में सबसे छोटी होने के कारण हेमलता पटेल को बचपन से बहुत लाड प्यार मिला | घर का माहौल राजनैतिक व समाजसेवी प्रकार का होने के कारण जनता के सुख दुःख से सदैव ही प्रत्याक्षीकरण होता रहा | हेमलता पटेल बताती हैं की समाज सेवा करने की प्रेरणा बचपन से ही पिता जी से मिली क्योंकि पिता जी लगातार तीन पंचवर्षीय तारा ग्राम पंचायत के जनप्रिय ग्राम प्रधान रहे व गाँव के विकास एवं जनता की सेवा हेतु सदैव तत्पर रहे, वो एक कुशल वैद्य ( चिकित्सक ) भी थे |  



गरीबों की दुवाएँ सदा ही उनके साथ रहीं क्योंकि वो उनका निःशुल्क इलाज करते थे, वो एक दूरदर्शी सोंच के विद्वान कुशल लेखक भी रहे उन्होंने समाज के उत्थान व महिलाओं की समस्याओं के निवारण हेतु कई किताबें भी लिखीं जिनमें समाज उत्थान दिग्दर्शिका, महिला संजीवनी, मानवता मानव धर्म सर्वोपरि आदि किताबें प्रमुख रहीं | अध्यक्ष हेमलता पटेल बतातीं हैं की समाज सेवा करने हेतु शुरू से ही पिता जी से प्रेरणा और ऊर्जा मिली | आज पितृदिवस है, पिता हर व्यक्ति के जीवन का वह वट वृक्ष है जो हमें दुःख व निराशा से बचाकर सुख-समृद्धि का रास्ता दिखाते हैं। वह आजीवन हमारे लिए शिक्षक की भूमिका निभाते हुए सामाजिक कर्तव्यों का पाठ पढ़ाते हैं |

Post a Comment

0 Comments