ओधोगिक शांति को बनाए रखने के लिए श्रम कानूनों की परिपालना आवश्यक है

गुरुग्राम।  ओधोगिक शांति को बनाए रखने के लिए श्रम कानूनों की परिपालना आवश्यक है। उक्त विचार गुरूग्राम एनसीआर के नव-नियुक्त एडिशनल लेबर कमिश्नर सुरेंद्र सिंह सहारण ने व्यक्त किये। श्री सहारण लेबर लॉ एडवाइजर एसोसिएशन के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। गौरतलब है कि एसोसिएशन के एक प्रतिनिधि मंडल नव-नियुक्त एडिशनल लेबर कमिश्नर सुरेंद्र सिंह से एसोसिएशन के अध्यक्ष एडवोकेट आर एल शर्मा की अगुवाई में मिलने पहुंचा था। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि उनका प्रयास होगा कि एरिया में श्रम कानूनों की पूर्णतया परिपालना हो, इसके लिए श्रम विभाग के अधिकारियों को कहा गया है। 



उन्होंने कहा कि श्रम कानूनों की अवेलहना किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही की जाएगी। लेबर लॉ एडवाइजर एसोसिएशन के अध्यक्ष एडवोकेट आर एल शर्मा ने बताया कि उनकी एसोसिएशन ओधोगिक शांति ओर श्रम कानूनों को समर्पित संस्था है ओर उनका प्रयास रहता है कि दोनों पक्षो श्रमिक ओर प्रबंधन के बीच दोस्ताना ओर सौहार्दपूर्ण माहौल बना रहे। जिससे ओधोगिक शांति को बल मिले। श्री शर्मा ने कहा कि लेबर लॉ एडवाइजर एसोसिएशन का मुख्य भूमिका, श्रमिक, प्रबंधन व श्रम विभाग के बीच सेतु का कार्य करके ओधोगिक शांति को बढ़ावा देना। मुलाकात के दौरान एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल से एडिशनल लेबर कमिश्नर ने श्रम कानूनों के बारे में विस्तार से चर्चा भी की। इस अवसर पर एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष अतर सिंह, गुरुग्राम के डिप्टी लेबर कमिश्नर रमेश आहूजा, डिप्टी लेबर कमिश्नर दिनेश कुमार भी उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments