पंचायतीराज विभाग में भ्रष्टाचार के खिलाफ ग्राम विकास अधिकारियों का धरना

 पंचायतीराज विभाग में भ्रष्टाचार के खिलाफ ग्राम विकास अधिकारियों का धरना 

बागपत ( सचिन त्यागी )

पंचायतीराज विभाग में भ्रष्टाचार के खिलाफ ग्राम विकास अधिकारियों ने हल्ला बोल दिया है। डीपीआरओ व उसके बाबू पर 50-50 हजार मांगने के आरोप लगे है। जिले के ग्राम विकास अधिकारी डीपीआरओ पर कारवाई की मांग को लेकर विकास भवन में घरने पर बैठ गये है। 



बागपत जिले में ग्राम विकास कराने के नाम पर घोटाले पर घोटाले किये जा रहे है। कायाकल्प योजना में पानी की टंकी, आरओ वाटर की खरीद में फर्जी बिलों पर करोडों का घोटाला है। हेंडपम्प रिबोर व निर्माण के पर करोडों का घोटाला। यह घोटाले अधिकारियों की मिलीभगत से जिले में किये जा रहे है। घोटाले पकड़ में भी आ चुके है । लेकिन अधिकारियों का पेट इतने पर भी नही भरा तो ग्राम पंचायत अधिकारियों पर मनमाने तरीके से धन उगाहने का दबाव बनाया जा रहा है। ऐसे आरोप ग्राम पंचायत अधिकारी समन्वय समिति, ने लगाये है और विकास भवन पर आरोपी अधिकारियों के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। मंगलवार को जिला पंचायत राज अधिकारी बनवारी सिंह व उसके वरिष्ठ सहायक लिपिक पर कारवाई की मांग को लेकर धरना आरम्भ कर दिया गया है। आरोप है कि प्रत्येक खंड विकास कार्यालय से 50-50 हजार रूपये धन उगाहने का दबाव बनाया जा रहा है। समीति अध्यक्ष के नेतृत्व में सैंकडों की संख्या में ग्राम विकास अधिकारी इस धरने में कूद गये है और भ्रष्टाचार के विरूद्ध धरना प्रदर्शन कर कार्य बहिष्कार आरम्भ कर दिया है। चेतावनी दी गयी है जब तक दोषी जिला पंचायत राज अधिकारी व उसके लिपिक के खिलाफ कारवाई नहीं होगी उनका धरना जारी रहेगा। पीडितों ने इसकी शिकायत शासन को भी भेज दी है।



Post a Comment

0 Comments