यूपी में राजा भइया की पार्टी से भाजपा का होगा गठबंधन, स्वतंत्र देव सिंह ने दिये संकेत


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 से पहले राजा भइया (Raja Bhaiya) की पार्टी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक और भाजपा के बीच गठबंधन संभव है। इस बात का संकेत 12 सितंबर 2021 को चित्रकूट में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने दिया है।

भाजपा किसान मोर्चा के प्रांतीय सम्मेलन में चित्रकूट पहुंचे स्वतंत्र देव सिंह ने पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने साफ कहा कि उत्तर प्रदेश में कुछ और छोटे दलों से भाजपा गठबंधन करेगी। इसके लिए रास्ते खुले हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि जो दल भाजपा के सहयोगी दल के रुप में साथ आना चाहते हैं उनके लिए सभी रास्ते खुले हैं। इसके पहले 30 अगस्त 2021 को जनसेवा संकल्प यात्रा का शुभारंभ करने अयोध्या पहुंचे राजा भइया ने खुलकर सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ की थी।

इस घटनाक्रम से गठबंधन की संभावनाएं बढ़ी

  • 30 अगस्त 2021 को राजा भइया अयोध्या में भगवान रामलला का दर्शन करने पहुंचे थे।
  • यहां किसानों के मुद्दे पर राजा भइया ने मोदी और योगी सरकार की सराहना की थी।
  • मीडिया के सामने खुले तौर पर राजा भइया ने किसान संगठनों द्वारा चलाये गये आंदोलन का विरोध किया था।
  • राजा भइया ने स्पष्ट कहा था कि असली किसान खेतों में पसीना बहा रहे हैं।
  • जो लोग सड़क जाम कर रहे हैं वह उन्हें किसान नहीं मानते हैं।
  • योगी और मोदी सरकार के प्रति राजा भइया का साफ्ट कार्नर नजर आया था।
  • अयोध्या में राजा भइया ने भी यह स्वीकार किया था कि समान विचारधारा वाले दल से गठबंधन हो सकता है।
  • 12 सितंबर 2021 को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने चित्रकूट में कहा कि भाजपा कुछ और छोटे दलों से गठबंधन करेगी।

गठबंधन का पूर्वांचल में दिखेगा बड़ा असर

विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा और राजा भइया की पार्टी जनसत्ता दल गठबंधन का असर पूर्वांचल में देखने को मिलेगा।

इसके अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी राजा भइया का अपना प्रभाव है।

इसका पूरा फायदा भाजपा को मिलेगा।

खासकर किसानों के मुद्दे पर भाजपा राजा भइया का पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लाभ उठा सकेगी।

राजा भइया की पार्टी का भाजपा से गठबंधन होने पर

सपा से कई बड़े नेताओं के पार्टी छोड़ने की संभावना बढ़ जाएगी।



Post a Comment

0 Comments