लखन को लगा मेघनाद का बाण, संजीवनी लेकर आए हनुमान

 लखन को लगा मेघनाद का बाण, संजीवनी लेकर आए हनुमान



बागपत के रटौल गांव के शिव मंदिर में चल रही रामलीला में बुधवार रात अंगद -रावण संवाद के बाद लक्ष्मण शक्ति, हनुमान द्वारा संजीवनी बूटी लाना तथा लक्ष्मण की चेतना लौटने की लीलाओं का भावपूर्ण मंचन किया गया।



रावण का पुत्र मेघनाद युद्ध भूमि में अकेला ही हाहाकार मचा देता है। तब राम की आज्ञा पाकर लक्ष्मण उससे युद्ध के लिए आते हैं। दोनों के बीच घनघोर युद्ध होता है। लक्ष्मण के सामने मेघनाद पस्त होने लगता है। तब मेघनाद ब्रह्म शक्ति का प्रयोग करके लक्ष्मण को मूर्छित कर देता है। इससे राम दल में शोक छा जाता है। हनुमान द्वारा वायुमार्ग से संजीवनी बूटी लाने के रोमांचक दृश्य को देख दर्शक जय जयकार कर उठे। संजीवनी से उपचार के बाद लक्ष्मण की चेतना लौट आती है। इससे राम दल में हर्ष की लहर दौड़ पड़ती है। रामलीला में मुख्य अतिथि रालोद नेता कपिल चौधरी रहे। जिनका रामलीला कमेटी ने श्रीराम की तस्वीर देकर स्वागत किया। मोके पर रामलीला संचालक माo देवेंद्र अरोरा , बंटी गुप्ता ,प्रवीण गुप्ता ,लीलू  व गणमान्य लोगों में रिंटू प्रधान, आदेश बंसल प्रधान, भोपाल प्रधान, मुंतज़िर चौधरी, सेलक राम, हसमत चौधरी आदि लोग मौजूद रहे।



Post a Comment

0 Comments