सीएम विंडो की शिकायतों को गंभीरता से ले अधिकारी: अमित गोयल

 सीएम विंडो ऐमिनेंट सदस्यों ने डीसी से की मुलाकात



-गुरुग्राम व बादशाहपुर के पांच सदस्य रहे शामिल
-सीएम विंडो की शिकायतों को गंभीरता से लेने की कही बात

गुरुग्राम। सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों को समय पर और गंभीरता से उनका निवारण करने के लिए गुरुग्राम व बादशाहपुर के सीएम विंडो एमिनेंट पर्सन ने बुधवार को उपायुक्त निशांत कुमार यादव से मुलाकात की। इस दौरान उनसे कई पहलुओं पर बात हुई। 

एमिनेंट पर्सन सन्नी दौलताबाद, महेश वशिष्ठ, अमित गोयल, नितिन शांडिल्य और एनपी गर्ग ने जिला उपायुक्त को बताया कि सीएम विंडो पर जो शिकायतें आती हैं, उनमें से अधिकतर शिकायतों पर खाना-पूर्ति कर दी जाती है। अधिकारी बचाव करने के चक्कर में पीडि़त को न्याय नहीं दिला पाते। ऐसी धारणा सही नहीं है। सीएम विंडो आम आदमी को राहत दिलाने के उद्देश्य से गठित की गई है। जिन समस्याओं का समाधान सामान्य तौर पर नहीं हो जाता, उन्हें ही सीएम विंडो पर लोग लेकर जाते हैं। 

अगर सीएम विंडो पर भी खानापूर्ति होती रही तो फिर आम आदमी को न्याय कैसे मिल जाएगा। अमित गोयल ने कहा कि वे ऐसे अधिकारियों की सूची भी तैयार कर रहे हैं, जो कि सीएम विंडो के कार्यों को सिर्फ खानापूर्ति करके फाइलें बंद करने के चक्कर में रहते हैं। यह सोच और काम बिल्कुल भी सही नहीं है। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी एमिनेंट सदस्यों के सम्पर्क में कम रहते हैं। उन्हें भी निर्देश दिए जाएं कि वे सदस्यों से संपर्क साधकर रखें, ताकि समस्याओं का समाधान परस्पर मिलकर भी किया जा सके। सदस्यों ने कहा कि नोडल अधिकारियों की सूची दी जाए और उनसे रूबरू कराया जाए। नोडल अधिकारी कर्मचारियों को साइन कराने को भेजते हैं, जबकि उन्हें स्वयं आना चाहिए। उन्होंने कहा कि कुछ अधिकारी सीएम विंडो पर आने वाले शिकायतों को समय की बर्बादी भी समझ बैठते हैं, जोकि सही नहीं है। सरकार की यह एक व्यवस्था है कि आम आदमी को इस माध्यम से न्याय दिया जा सके।

सभी सदस्यों ने जनता की मांगों को लेकर यहां उपायुक्त से विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि वे अपने अधीनस्थ अधिकारियों को इस विषय पर गंभीरता से काम करने के आदेश जारी करें। सरकार के पूरे प्रयास हैं कि सभी को हर स्तर पर उचित न्याय मिले। आजादी के अमृत महोत्सव में सभी के सुखी, सभी के हित के बारे में सरकार काम कर रही है। हम सबको उसमें भागीदार बनना चाहिए। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने सभी मांगों पर सहमति जताई और इस पर सकारात्मक काम करने का भरोसा दिलाया। उन्होंने यह भी कहा कि जिले के सभी 18 एमिनेंट सदस्य कभी भी उनके पास आकर मिल सकते हैं।


Please follow us also

Email-ajeybharat9@gmail.com

Whatsapp Group https://chat.whatsapp.com/ClaOhgDw5laFLh5mzxjcUH

http://facebook.com/Ajeybharatkhabar

http://youtube.com/c/Ajeybharatnews

http://instagram.com/ajeybharatnews

Post a Comment

0 Comments