सभी कार्यकर्ता आम आदमी पार्टी की नीतियों को हरियाणा के मुद्दों से जोड़ें : सौरभ भारद्वाज



सभी कार्यकर्ता आम आदमी पार्टी की नीतियों को हरियाणा के मुद्दों से जोड़ें : सौरभ भारद्वाज


देश के संविधान को बचाने की लड़ाई में करें सहयोग : संजय सिंह


आम जनता के बीच रह कर काम करें कार्यकर्ता : पंकज गुप्ता


पद के लिए नहीं, भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए आम आदमी पार्टी से जुड़ें : डॉ. सुशील गुप्ता


पार्टी पदाधिकारियों के प्रशिक्षण शिविर के पहले दिन बोले आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता



गुरुग्राम, 4 अगस्त


हम आने वाली पंद्रह अगस्त को 75 वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहे हैं। सरकारी स्कूलों के हालात दिन प्रतिदिन खराब होते जा रहे हैं। न शिक्षा में कोई सुधार हुआ, न गरीबी कम हुई है। ये बात आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद डॉ. सुशील गुप्ता ने कहे। वे गुरुवार को आम आदमी पार्टी के प्रशिक्षण शिविर के पहले दिन दीप प्रज्ज्वलन के बाद बोल रहे थे। उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा जब तक देश तरक्की नहीं करेगा, देश शिक्षित नहीं होगा, आम आदमी को रोटी के संघर्ष के लिए दिन रात जूझना पड़ेगा, देश तरक्की नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि व्यवस्था को बदलने के लिए अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के रामलीला मैदान से सपना देखा था। सत्ता के परिवर्तन के लिए विधानसभा और संसद में जाना पड़ेगा। 



उन्होंने कहा कि गंदगी की सफाई के लिए गंदगी में उतरना पड़ेगा। व्यवस्था बदलने के लिए के आम आदमी पार्टी से जुड़े, पद के लिए नहीं। संवाद के अभाव में बड़ी बड़ी संस्थाएं टूट जाती हैं। संवाद में स्पष्टता बहुत जरूरी है। व्यवस्था बदलने के संघर्ष के लिए हमेशा सच का साथ दें। सच्चाई की ताकत को पहचानें। सच्चाई के रास्ते पर हिंदुस्तान को आगे बढ़ाना है। स्वास्थ्य सुविधा सभी को देनी है। हमारा मकसद गरीब और अमीर की खाई को पाटना है। आम आदमी पार्टी जाति को आधार बनाकर राजनीति नहीं करती।

 


दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली में पानी और बिजली के गलत बिल आते थे। कितना पानी और बिजली जनता प्रयोग नहीं करती थी, उससे ज्यादा बिजली बिल आता था। इसी को मुद्दा बनाकर आम आदमी पार्टी ने बदलाव को नींव रखी। लाखों लोगों से हस्ताक्षर करवा कर तत्कालीन दिल्ली मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के घर तक  ऑटो, रिक्शा में भर कर ले जाया गया। वहीं जिनके बिजली नहीं भरने पर कनेक्शन काटे गए, तो उनके बिजली कनेक्शन हमने खुद जोड़े।


 वहीं तब के विधायकों ने वाटर टैंकर का अवैध धंधा चला रखा था। सौरभ भारद्वाज ने बताया कि हमने सरकार आने पर 700 लीटर पानी फ्री करने का वादा किया। वहीं जहां पानी के टैंकर का अवैध धंधा चला रखा था, वहां पानी के कनेक्शन जोड़े गए। इससे लोगों को विश्वास हुआ कि आम आदमी पार्टी जनता के लिए काम करेगी। धीरे धीरे मूवमेंट खड़ा हुआ, लोगों के दिमाग में विचार गए। लोगों ने साथ देना शुरू किया। आम आदमी पार्टी ने सत्ता में आकर जो वादे किए, वो पूरे किए गए। बिजली फ्री के वादे को पूरा किया गया, वहीं 700 लीटर पानी तक की लिमिट बना कर फ्री पानी दिया गया। 


उन्होंने अंत में कहा कि पार्टी खड़ा करने के लिए मेहनत करनी होती है। इसका कोई शॉर्ट कट नहीं है। सभी को मिलकर मेहनत करनी पड़ेगी। जो मेहनत करेगा, वो ही आगे आएगा। मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी मिलकर मेहनत करें, लोगों तक नीतियों को लेकर जाएं, तभी पार्टी आगे बढ़ेगी।


वहीं उन्होंने कहा कि दिल्ली के स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटें बीपीएल बच्चों के लिए रिजर्व होती हैं। उन्होंने कहा कि पहली सरकारों में रिजर्व सीटों पर सिफारिश के आधार पर दाखिले होते थे, हमने सरकार आने पर इसको बदला, अभिभावकों से फॉर्म भरवाए गए। पारदर्शिता के लिए सरकारी कार्यालयों में ये सुविधा उपलब्ध करवाई गई। इसके बाद ड्रा करवा कर दाखिले सुनिश्चित किए गए। उन्होंने कहा कि आज आप दिल्ली में जा के देख सकते हैं कि एक गरीब घर का बच्चा फर्राटेदार इंग्लिश बोलता है। 

ये सब आम आदमी पार्टी के व्यवस्था परिवर्तन का नतीजा है।


आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता ने पार्टी संगठन मजबूती का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि हमको हर विधानसभा क्षेत्र में आम जनता से जुड़ाव करके चुनाव के माहौल को पैदा करना है। आम जनता के बीच रह कर मुद्दों की राजनीति करें।


आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भारतीय राजनीति कल आज और कल विषय पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि आज के समय में राजनीति को सबसे बुरी चीज समझा जाता है, जबकि राजनीति से ही देश में बदलाव आता है। ये देश आजाद हुआ क्रांतिकारियों की कुर्बानी से, क्रांतिकारियों की शहादत की बदौलत। अशफाक उल्ला खान की आखिरी ख्वाइश भी कफन के लिए देश की मिट्टी था।


महात्मा गांधी ने भी छोटे छोटे अधिकारों के लिए आंदोलन चलाया। भारत माता को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद करवाने के लिए। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लिए क्रांतिकारी और अन्य नेताओं ने अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया। देश की आजादी के बाद डॉ. भीमराव अंबेडकर ने देश को संविधान दिया। उन्होंने कहा कि देश संविधान से चलेगा, किसी के परवान से नहीं चलेगा।  


उन्होंने कहा कि हमें जाति, धर्म की राजनीति नहीं चाहिए। हमें अच्छी शिक्षा, अच्छे स्वास्थ्य की राजनीति चाहिए। हमें समाज में बदलाव की राजनीति चाहिए। हमारा संघर्ष देश को बदलने का है, इस व्यवस्था को बदलने का है। अच्छी शिक्षा का है, अच्छे स्वास्थ्य का है, मूलभूत जरूरत का है। हमारी लड़ाई इस देश के संविधान को बचाने की है। इस मौके पर आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता अनुराग ढांडा, प्रदेश सह प्रभारी दिनेश प्रताप सिंह, संगठन मंत्री प्रवीण प्रभाकर गौड़ और अन्य वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments