अग्रसमागम में अग्रवाल समाज की एकजुटता ने दिया बड़ा संदेश

 


-महाराजा अग्रसेन जयंती पर गुरुग्राम में हुआ भव्य समारोह

-अग्रवाल समाज की राजनीति में भागीदारी बढ़ाने की पुरजोर मांग

-नवीन गोयल के प्रयासों से प्रदेशभर के अग्र समाज की हुई भागीदारी

-पहली बार अग्र समाज की हर संस्था एक मंच पर हुई एकत्रित


गुरुग्राम। लम्बे समय बाद अग्रवाल समाज की सर्व संस्थाओं को एक मंच पर लाने का समाज के युवा नेता नवीन गोयल ने जो प्रयास किया, उसमें वे सफल हो गए। मिलेनियम सिटी गुरुग्राम में महाराजा अग्रसेन जयंती और 1857 की क्रांति में अग्रवाल समाज से तन-मन और धन से सहयोग करने वाले क्रांतिवीरों को नमन करने के लिए आयोजित भव्य समारोह में अग्रवाल समाज ने अपनी राजनीतिक भागीदारी पर चिंता भी जाहिर की। 



समारोह में पहुंचे सरकार में शामिल प्रमुख व्यक्तियों और समाज सुधार में जुटे लोगों ने राजनीतिक दलों को यह संदेश दिया कि अग्र समाज को ना तो नौकरी चाहिए और ना ही कोई आर्थिक लाभ। समाज की राजनीति में उचित भागीदारी हो, यही समाज चाहता है। समाज के अग्रणी व्यक्तियों ने खुलकर राजनीति में भागीदारी की बात कही। मंचासीन भाजपा हरियाणा अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ और हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता समेत तमाम विधायकों और पार्टी के पदाधिकारियों के समक्ष अग्र समाज के राजनीतिक पिछड़ेपन को दूर करने के लिए वक्ताओं ने पुरजोर मांग उठाई। यहां क्रांतिवीरों के जीवन से रूबरू कराने के लिए विशेष प्रदर्शनी लगाई गई। समारोह में पहुंचे 10 हजार से भी अधिक लोगों ने इसे देखा। क्रांतिवीरों के जीवन का सार पढ़ा। इस समारोह में पहुंचे सभी अतिथियों को आयोजन समिति की ओर से स्मृति चिन्ह, पौधे और विशेष तौर पर तैयार किए गए सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। मार्गदर्शक समिति से अग्रवाल समाज के प्रधान रामनिवास मंगला, सुंदर लाल अग्रवाल, जेएन मंगला, शरद गोयल, नरेश अग्रवाल, चेतन दास, वशिष्ठ कुमार गोयल, रोशन लाल मंगला ने सभी अतिथियों का सम्मान किया। 



समारोह में पहुंचे अतिथि 

अग्रमहासमागम-2022 में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ हरियाणा विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता के अलावा पूर्व मंत्री विपुल गोयल, मनीष मित्तल, व्यापारी कल्याण बोर्ड के चेयरमैन रामनिवास गर्ग, रोहतक के मेयर मनमोहन गोयल, घनश्याम जेवर, सांसद धर्मबीर के पुत्र मोहित चौधरी प्रदेश युवा कार्यकारिणी सदस्य, भाजपा प्रदेश संयोजक बालकिशन अग्रवाल, एडवोकेट विरेंद्र गर्ग, अजय गुप्ता, रत्नेश बंसल, अमित बिंदल, मदनलाल गोयल, सोनिया अग्रवाल, राजीव जैन, नूंह भाजपा जिला अध्यक्ष नरेंद्र पटेल, पवन तायल, पुन्हाना नपा के चेयरमैन बलराज सिंगला मौजूद रहे।   


इन कार्यकर्ताओं ने निभाई अहम भूमिका

आयोजन समिति में प्रवीण अग्रवाल, ईश्वर मित्तल, डा. विनोद अग्रवाल, डा. सतीश अग्रवाल, मनोज गुप्ता, अभय जैन, नरेश जैन, अजय अग्रवाल, गजानंद अग्रवाल, अनिल गुप्ता, अनिल बंसल, धीरज गुप्ता, राजीव मित्तल, गगन गोयल, विक्की बंसल, मुकेश गर्ग, गजेंद्र गुप्ता, रघुनंद रिंकू, बीएल अग्रवाल के अलावा आयोजन समिति युवा से डा. डीपी गोयल, मनीष जैन, अंकुर गोयल, सोनू तायल, प्रमोद अग्रवाल, दीपक गुप्ता भोजराज, प्रिंस मंगला, कपिल गर्ग रतेरिया, सतीश अग्रवाल की समारोह में अहम भूमिका रही। महिला समिति समता सिंगला, आशा गगन गोयल के नेतृत्व में महिलाओं ने काफी कार्य किया। 


अग्र वीरों की गाथा देख भावुक हुए लोग

अग्रवाल समाज के उन लोगों की शौर्य गाथा भी इस समारोह में दिखाई गई, जिन्होंने 1857 की क्रांति में अपनी समझ से, खजाने से और विद्रोह से अंग्रेजों की जड़ें हिलाई थी। एक-एक क्रांतिकारी का जीवन समारोह में मौजूद बच्चों, महिलाओं, पुरुषों को यह बताया गया कि उनके पूर्वजों ने कितनी यातनाएं झेलकर देश की आजादी में अपना योगदान दिया था। लोग टकटकी लगाए अपने पूर्वजों के बलिदान की गौरव गाथा को देखते रहे और उनकी आंखों से आंसु टपकते रहे। 


ओमप्रकाश धनखड़ ने नवीन गोयल को दिया आशीर्वाद

इस समारोह में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ पर्यावरण संरक्षण विभाग भाजपा हरियाणा प्रमुख एवं इस कार्यक्रम के संयेाजक नवीन गोयल से काफी प्रभावित नजर आए। अपने भाषण में कई बार उन्होंने नवीन गोयल व उनकी टीम को इस भव्य समारोह के लिए बधाई दी। मंच पर अपने स्वागत और सम्मान की रस्म अदायगी व भाषण के बाद प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ मंच से नीचे जाने लगे। इसी दौरान युवा टीम ने नवीन गोयल का सम्मान करने की बात कही। श्री धनखड़ मंच से नीचे उतरने ही वाले थे कि वे उलटे पांव वापस मंच पर पहुंच गए। मंच के एक तरफ से विनम्रता व भावुकता से नवीन गोयल और दूसरी तरफ से आशीर्वाद देने के लिए हाथ उठाए हुए अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ चले आ रहे थे। ठीक मंच के बीच आकर उन्होंने नवीन गोयल को सिर पर हाथ रखकर आशीर्वाद दिया। ये पल बहुत ही महत्वपूर्ण थे। बेशक इसके कई राजनीतिक मायने निकलें, लेकिन झुककर नमन करने और आशीर्वाद देने की यह मुद्रा गुरू-शिष्य की परम्परा का निवर्हन करने जैसी रही। नवीन गोयल ओमप्रकाश धनखड़ को अपने राजनीतिक गुरू मानते हैं।


गीतकार मनोज मुंतशिर ने दी विशेष प्रस्तुति

बॉलीवुड में गीतकार, कवि मनोज मुंतशिर का कार्यक्रम भी खास रहा। उन्होंने महाराजा अग्रसेन और 1857 की क्रांति के वीरों की गाथा को अपने शब्दों में पिरोकर प्रस्तुत किया। महाराजा अग्रसेन जी के जीवन से उन्होंने रूबरू कराया। किस तरह से महाराजा अग्रसेन जी ने अयोध्या को अपनी राजधानी बनाया, इसके पीछे के कारण भी मनोज मुंतशिर ने सहज तरीके से पेश किया। इसके साथ ही उन्होंने अग्र क्रांतिकारियों की एक-एक करके गाथा सुनाई। लाइव प्रस्तुति देकर जनता को बांधे रखने की कला के धनी मनोज मुंतशिर का करीब एक घंटे तक कार्यक्रम चला।  

 

अग्रसमागम-2022 की झलकियां: 

-समारोह स्थल प्रवेश गेट पर महालक्ष्मी व महाराजा अग्रसेन की तस्वीरें सजाई

-महाराष्ट्र के नासिक का ढोल व कार्यक्रम में युवाओं की भागीदारी की रही चर्चा

-कार्यक्रम में पहुंचे सभी लोगों को पटके पहनाकर किया स्वागत

-अतिथियों को बांधी गई बादशाहपुर की पगड़ी

-क्रांतिवीरों की प्रदर्शनी को हर किसी ने इत्मीनान से देखा

-सभी ने महालक्ष्मी जी व महाराजा अग्रसेन को किया नमन

-टीम नवीन गोयल के कार्यकर्ताओं ने बेहतर बनाई व्यवस्था

-समाज की महिलाओं ने हरियाणवी, राजस्थानी गीतों पर किया नृत्य

-मंच के पास महाराजा अग्रसेन की भव्य प्रतिमा ने किया आकर्षित

-मंच पर स्वागत के दौरान धनखड़ ने बुजुर्ग रामनिवास मंगला के पांव छूकर लिया आशीर्वाद 

-समारोह में महाराजा अग्रसेन के जयकारों के साथ लहराए झंडे

-आरएसएस हरियाणा संघ चालक पवन जिंदल ने भेजा वीडियो संदेश

-भजन सम्राट कन्हैया लाल मित्तल भी समारोह में पहुंचे

-कन्हैया मित्तल ने गीत गाया-जो राम को लाए हैं हम उनको लाएंगे 

-जब मदन गोयल ने ओमप्रकाश धनखड़ को कहा ओमप्रकाश गोयल 

-अग्र समाज की महिलाओं ने हरियाणवी गीत पर किया धमाल नृत्य

-कार्यक्रम में एडिशनल सेशन जज नरेंद्र गुप्ता का भी किया सम्मान

-सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह, पौधे और सम्मान पत्र देकर विदा किया 

Post a Comment

0 Comments