बोधराज सीकरी समाजसेवी द्वारा 10 माह पूर्व शुरू की गई हनुमान चालीसा पाठ मुहिम ने लिया नया रंग।

 बोधराज सीकरी समाजसेवी द्वारा 10 माह पूर्व शुरू की गई हनुमान चालीसा पाठ मुहिम ने लिया नया रंग।

पहली बारी एक ही स्थान, एक ही जगह 2725 साधकों ने हनुमान चालीसा पाठ 11-11 बार किया। 


हम किसी भी मजहब, किसी भी धर्म को माने लेकिन राष्ट्र हमारे लिए अग्रणी है : बोधराज सीकरी


गुरुग्राम। दिनांक 20 दिसम्बर 2023 मंगलवार को रॉयल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल वजीरपुर सेक्टर 95 के चेयरमैन श्री विजय चौहान, श्रीमती कल्पना चौहान और श्री आशीष सिंह चौहान ने बोधराज सीकरी और उनकी टीम को अपने स्कूल के प्रांगण में हनुमान चालीसा पाठ करने के लिए आमंत्रित किया और वहां के समूह को देखकर बोधराज सीकरी का मन भी गद्गद हो गया कि पहली बार दस महीने के बाद इतना बड़ा समूह जिसमें 2600 विद्यार्थी, 100 से अधिक अध्यापक और 25 से अधिक अन्य श्रेणी के लोगों ने एक स्थान पर एक समय बैठकर हनुमान चालीसा पाठ गजेंद्र गोसाई की अगुवाई में संगीतमय तरीके से, लय से, ताल से और बड़े प्रेम भाव से गाया। विद्यार्थियों के अनुशासन को देखकर के सबका मन गद्गद हो गया क्योंकि सभी बच्चे एकाग्रचित्त होकर के अनुशासित तरीके से तालियों की गड़गड़ाहट से हनुमान चालीसा पाठ में सम्मिलित हुए। हनुमान चालीसा पाठ के उपरांत बोधराज सीकरी ने सभी विद्यार्थियों को संबोधित किया और उन्होंने हनुमान चालीसा पाठ के कुछ रहस्य की किस प्रकार आप विद्यावान बन सकते हैं, किस प्रकार गुणी बन सकते हैं, किस प्रकार चतुर बन सकते हैं और जीवन के अंदर किस प्रकार योग्य बन सकते हैं। अन्य प्रकार के उदाहरण देकर उन्होंने बच्चों को संबोधित किया। किसी भी आध्यात्मिक कार्य में कैसे बैठा जाए वो विधि भी बोधराज सीकरी ने विद्यार्थियों को सिखाई। उसके अतिरिक्त राष्ट्र के प्रति हमारा कर्तव्य, संविधान के प्रति हमारा कर्तव्य, महिला सशक्तिकरण के प्रति हमारा कर्तव्य और राष्ट्रगान व राष्ट्र की धरोहरों की सुरक्षा आदि बहुत से हवाले देकर बच्चों को प्रेरणा दी और अंत में बताया कि राष्ट्र सर्वोपरि है। हम किसी भी मजहब, किसी भी धर्म को माने लेकिन राष्ट्र हमारे लिए अग्रणी है। राष्ट्र हमारे जीवन का आधार है और वो दिन दूर नहीं जब आज का युवा जब संस्कारवान और आध्यात्मिक हो गया तो वो विश्व गुरु बनने में बिलकुल विलंब नहीं होने देगा।

तदोपरांत श्री विजय चौहान ने श्री बोधराज सीकरी का और उनकी टीम का शॉल पहनाकर स्वागत किया, अभिनंदन किया और उनसे आग्रह किया कि गुरुग्राम शहर के अंदर उनका जो स्कूल है उसमें भी हनुमान चालीसा पाठ का आयोजन करें और विद्यार्थियों को अपने ज्ञान से संबोधित करें।


इसके अतिरिक्त रविवार 17 दिसम्बर 2023 को पंजाबी बिरादरी महा संगठन की वार्षिक बैठक में 400 लोगों ने  3-3 बार हनुमान चालीसा पाठ किया। इसी प्रकार जनता रिहैबिलिटेशन सेंटर में पिछले कई मंगलवार से बोधराज सीकरी की अगुवाई में जो हनुमान चालीसा पाठ चल रहा है। वहां भी 40 विद्यार्थियों ने 21-21 बार पाठ किया। 

इसी प्रकार जामपुर शिव मंदिर ईस्ट ऑफ कैलाश में भी 30 साधकों ने 5-5 बार पाठ किया।

श्री विजय टन्डन और श्री रणधीर टन्डन इनकी फैक्टरी वी.के.रब प्लास्ट के नाम से जानी जाती है। उनके वर्कर्स ने संकल्प लिया कि वो हर मंगलवार को फैक्ट्री में काम करने से पहले हनुमान चालीसा पाठ करेंगे। इस निमित्त वहां के 78 कर्मचारियों ने 2-2 बार पाठ किया।

इसके अतिरिक्त पंजाबी बिरादरी महा संगठन की महिला प्रकोष्ठ की संयोजिका श्रीमती ज्योत्सना बजाज ने मंगलवार के दिन जहां-जहां भी हनुमान चालीसा का पाठ हो रहा है। उसके अतिरिक्त लोगों से जूम के माध्यम से ऑनलाइन हनुमान चालीसा पाठ कराने का भी संकल्प लिया है। ऑनलाइन लगभग 36 महिलाओं ने 11-11 बार पाठ किया। अभी तक किये गए 10 महीनों के अंदर विभिन्न स्थानों पर किये गए पाठ को तुलनात्मक दृष्टिकोण से देखा जाए तो यह दिन सुनहरे अक्षरों से लिखा जाएगा। क्योंकि कल न केवल 5 स्थान पर हनुमान चालीसा पाठ हुआ। बल्कि संख्या की दृष्टि से भी यह आंकड़ा लगभग 5 लाख के नजदीक पहुंचने वाला है। यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। बोधराज सीकरी के कथनानुसार ये ईश्वर कृपा है और हनुमान जी के आशीर्वाद का फल है।


इससे पहले 165 स्थानों पर हनुमान चालीसा के 462922 पाठ 32652 साधकों ने किए थे।इस मंगलवार के पाठ को मिलाकर 171 स्थानों पर 35,961 साधकों द्वारा 495,639 हनुमान चालीसा पाठ हो चुके हैं।

निश्चित ही यह मुहिम समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में सार्थक भूमिका निभा रही है। बोधराज सीकरी के अतिरिक्त इस सामाजिक काम में श्री गजेंद्र गोसाई, पंडित भीमदत्त, डॉ. अलका शर्मा, श्री किशोरी लाल डुडेजा, श्री युधिष्ठिर अलमादी, श्री सुखदेव उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments