काली मिर्च की वजह से हल्दी की bioavailibility 2000 गुना बढ़ जाती है, डॉ अर्चिता महाजन



डॉ अर्चिता महाजन न्यूट्रीशन डाइटिशियन एवं चाइल्ड केयर होम्योपैथिक फार्मासिस्ट एवं ट्रेंड योगा टीचर नॉमिनेटेड फॉर पद्म भूषण राष्ट्रीय पुरस्कार ने बताया कि काली मिर्च की वजह से हल्दी की bioavailibility 2000 गुना बढ़ जाती है, ये बिल्कुल सच बात है, प्रमाणित भी वैसे पानी में काफी देर उबालकर भी हल्दी की घुलनशीलता थोड़ी बढ़ाई जा सकती है।हल्दी और काली मिर्च दोनों ही एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर हैं। जब इन दोनों को मिला दिया जाता है तो इस मिश्रण में शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। सर्दी के मौसम में आमतौर पर सूजन बढ़ जाती है। इसका सेवन सर्दी के मौसम में किया जा सकता है.रोजाना हल्दी मिला पानी पीने से रक्त से विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और रक्त संबंधी स्वास्थ्य समस्याएं नियंत्रित रहती हैं। 

यह दिल के दौरे से भी बचाता है।  हल्दी वाले पानी के उपयोग से लीवर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकलते हैं और यह कोशिकाओं को अपना कार्य कुशलतापूर्वक करने के लिए पुनर्जीवित करता है।डायबिटीज के मरीजों के लिए हल्दी और काली मिर्च का पानी फायदेमंद साबित हो सकता है। इसका सेवन रोजाना सुबह खाली पेट करने से ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मदद मिलती है। यह इंसुलिन सेंसिटिविटी में सुधार करने में मददगार हैं। इसमें मौजूद गुण ऑक्सिडेटिव तनाव को कम करने में भी फायदेमंद हैं अर्थराइटिस के मरीजों के लिए यह पानी रामबाण साबित हो सकता है। हल्दी और काली मिर्च दोनों में ही एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन कम करने में मदद करते हैं। जोड़ों के दर्द में राहत मिल जाती है। यूरिक एसिड को भी कम करने में मदद मिलती है।


Post a Comment

0 Comments