सर्दियों में जोड़ों का दर्द क्यों बढ़ जाता है डॉ अर्चिता महाजन

 डॉ अर्चिता महाजन न्यूट्रीशन डाइटिशियन एवं चाइल्ड केयर होम्योपैथिक फार्मासिस्ट एवं ट्रेंड योगा टीचर नॉमिनेटेड फॉर पद्म भूषण राष्ट्रीय पुरस्कार ने बताया कि सर्दियों में प्याज कम लगने के कारण पानी कम पिया जाता है जिससे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ती जाती है और वह बाथरूम के रास्ते बाहर नहीं निकल पाता। जिनकी पारिवारिक हिस्ट्री गोउट की समस्या हो।

 उन्हें प्यास लगे ना लगे कम से कम 5 लीटर पानी सर्दी हो जाए गर्मी जरूर पीना चाहिए एक गिलास गर्म पानी में आधे नींबू का रस मिलाकर पी सकते हैं। इसके अलावा इसमें आधा चम्मच हल्दी पाउडर और एक चम्मच सेब का सिरका मिलकर रोजाना इसका सेवन करने से भी यूरिक एसिड की समस्या को जड़ से खत्म किया जा सकता है।गर्म पानी पीने से मेटाबोलिज्म की प्रक्रिया तेज हो जाती है। जिससे आप जो भी खाते हैं वो तेजी से एनर्जी में बदलता है और कैलोरी बर्निंग की प्रक्रिया भी तेज हो जाती है। जिस वजह से बॉडी पर फैट जमा नहीं होता और वजन कंट्रोल में रहता है। सबसे जरूरी कि गर्म पानी पीने से बढ़े हुए यूरिक एसिड को भी कंट्रोल में रखा जा सकता हैरात में सोने से पहले डिनर में मीठी चीजें खाने से परहेज करें. ज्यादा मात्रा में मीठा यूरिक एसिड बढ़ाने में योगदान दे सकता है इसलिए रात के समय मीठे का सेवन करने से बचें. ये शरीर में शुगर लेवल को बढ़ा सकता है जिससे जोड़ों में दर्द की समस्या हो सकती है.

Post a Comment

0 Comments