उपराष्ट्रपति के प्रति विपक्ष का आचरण अशोभनीय व निंदनीय : बोधराज सीकरी

 उपराष्ट्रपति के प्रति विपक्ष का आचरण अशोभनीय व निंदनीय : बोधराज सीकरी

गुरुग्राम। मिशन 2024 की तैयारी में जुटा विपक्ष अपने नट-वोल्ट तो कसने की पूरी कोशिश कर रहा है। मगर अपने अमर्यादित आचरण व कार्यशैली के चलते दिन-ब-दिन पतन की ओर अग्रसर है। देश के उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की मिमिक्री के मामले ने कांग्रेस की किरकिरी करने में एक और कड़ी जोड़ने का काम किया है।

इस मामले पर पंजाबी बिरादरी महासंगठन गुरुग्राम के प्रधान व समाजसेवी बोधराज सीकरी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इस कृत्य की घोर निंदा की है। उन्होंने कहा कि "भारत के उपराष्ट्रपति और राज्य सभा के माननीय सभापति श्री जगदीप धनखड़ जी का जिस शर्मनाक तरीक़े से तृणमूल कांग्रेस के नेता कल्याण बनर्जी व कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपमान किया है, वह भारतीय लोकतांत्रिक परंपराओं पर एक गहरा दाग है। 

संसद परिसर में जिस प्रकार मिमिक्री करके जगदीप जी का अपमान किया गया है, वह अशोभनीय है, निंदनीय है। एक किसान परिवार में जन्मे आदरणीय उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ जी ने सदैव देश व समाज को सर्वोपरि रखते हुए हर व्यक्ति को विनम्र भाव से झुककर सम्मान दिया है। 

सर्वोच्च संवैधानिक पदों पर आसीन व्यक्तियों के सम्मान की परंपरा ही लोकतंत्र की शक्ति है। कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों द्वारा संसदीय गरिमा का अवमूल्यन जिस निचले स्तर पर पहुँच रहा है, वह पूरे राजनीतिक वर्ग के लिए चिंता का विषय है। संवैधानिक पदों पर बैठे व्यक्तियों के साथ इस तरह के अमर्यादित व दुर्भाग्यपूर्ण व्यवहार की मैं कड़े शब्दों में निंदा करता हूँ।"

पंचनद जिला गुरुग्राम के प्रधान व भाजपा सहकारिता प्रकोष्ठ के गुरुग्राम जिला संयोजक प्रमोद सलूजा ने कहा कि '‘संसद परिसर में माननीय उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ के प्रति विपक्ष का व्यवहार पूर्ण रूप से अलोकतांत्रिक है। इसकी जितनी भर्त्सना की जाए कम है। कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों ने संसद की गरिमा को ताक पर रखने का काम किया है।

विपक्ष के कुछ सांसदों के निलंबन के खिलाफ संसद की सीढ़ियों पर विरोध प्रदर्शन के दौरान तृणमूल कांग्रेस नेता कल्याण बनर्जी ने श्री जगदीप धनखड़ जी की जिस प्रकार नकल की और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस प्रकार इस कृत्य का वीडियो बनाया वह निंदनीय है, इनका यह व्यवहार ही इनकी अवनति का कारण है।"

गुरुग्राम होम डेवलपर्स एसोसिएशन के मुख्य संरक्षक दिनेश नागपाल ने कहा कि "देश के उपराष्ट्रपति जैसे उच्चतर पद पर आसीन श्री जगदीप धनखड़ जी का मजाक उड़ाकर उनका अपमान करना और राहुल गांधी जैसे नेताओं द्वारा इस दुर्भाग्यपूर्ण कृत्य का समर्थन करना, वीडियो बनाना बहुत ही शर्मनाक है।

निर्वाचित प्रतिनिधियों को अपनी अभिव्यक्ति के लिए स्वतंत्र होना चाहिए, लेकिन उनकी अभिव्यक्ति की गरिमा और शिष्टाचार के मानदंडों के भीतर होनी चाहिए। इस संसदीय परंपरा पर हमें गर्व है और भारत के लोग उनसे इसे कायम रखने की उम्मीद करते हैं। माननीय उपराष्ट्रपति जी के साथ यह दुर्व्यवहार करने वाले लोग कभी भी लोकतंत्र के हितैषी नहीं हो सकते हैं।"

Post a Comment

0 Comments