बल, बुद्धि, विद्या के प्रदाता श्री हनुमान जी सबका कल्याण करें: पंकज पाठक

 श्रीराम सोसाइटी लक्ष्मण विहार स्थित श्री शक्ति मंदिर प्रांगण में तैंतीसवें मंगलवार सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ का हुआ आयोजन- समाजसेवी पंकज पाठक

गुरुग्राम,05 दिसम्बर 2023। सामूहिक श्री हनुमान चालीसा पाठ की श्रंखला को आगे बढ़ाते हुए समाजसेवी पंकज पाठक की अगुवाई में श्रीराम सोसाइटी लक्ष्मण विहार स्थित श्री शक्ति मंदिर प्रांगण में तैंतीसवें मंगलवार को सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ एवं गीता पाठ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ भगवान हनुमान सहित विभिन्न देवी देवताओं की पूजा-अर्चना से हुआ। श्री राम सोसाइटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष,पंकज पाठक और लक्ष्मण विहार वासियों ने संयुक्त रूप से सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ का शुभारंभ किया। हनुमान चालीसा टीम में पुरुष सदस्य महिला सदस्य एवं बच्चों टीनों की भूमिका बराबर की है। जिसमें ना केवल लक्ष्मण विहार से पुरुष बल्कि महिलाएं और बच्चे भी शामिल हुए। बल्कि लक्ष्मण विहार के बाहर से भी अन्य भक्तों ने भी श्री हनुमान जी के चरणों में हाजिरी लगायी,सर्वप्रथम ठीक नियत समय सायं साढ़े 7 बजे राम भक्त हनुमान के जयकारे के साथ हनुमान चालीसा का संगीतमय पाठ किया गया। प्रांगण में उपस्थित प्रत्येक साधक विशेष कर बच्चे श्रीहनुमत भक्ति से सराबोर दिखाई दिए. पंकज पाठक ने बताया कि बल, बुद्धि, विद्या के प्रदाता श्री हनुमान जी सबका कल्याण करें. श्री हनुमान चालीसा पाठ सिर्फ और सिर्फ सनातन धर्म को समर्पित किया गया. हनुमान जी का आशीर्वाद हम सभी को इसी प्रकार मिलता रहे और सकारात्मक ऊर्जा का संचार प्रत्येक भारतवासी में होता रहे. श्री हनुमान चालीसा पाठ में श्रीराम सोसाइटी   के सभी लोग शामिल थे. इस दौरान शंखनाद भी किया जाता रहा। इसके उपरांत हनुमान जी की महाआरती की गई । फिर अंत में भोग प्रसाद का वितरण किया गया।

इस मौके पर सामूहिक श्री हनुमान चालीसा पाठ में विनोद सुदान,स्नेहलता,आयुष,रमेश चंद्र शर्मा,सौर्य कौसिक,सुनील,संतोष,देव,तमन्ना,रुपाली,वर्षा,राज कुमार ,सुनील,विनीत,विनय,आनंद,कुशल योगी,सुनील,विनीत,विनय,आनंद,नीलेश सिंह, वेद प्रकाश,विष्णु दत्त गौर, संजय मेहरा,सत्या , योगिता,अनिल शर्मा,वीरेंदर ,जितेंदर सिंह,धनदीप भारती, परशुराम, कनक,महिमा,कृष्ण,देव,लता,ख़ुशी,पिंकी,नवी,धनंजय संदीप,आयुष, राज कुमार ,सुनील ,अजय भरद्वाज, मेहरा जी,नवीन,अमित,संदीप ,पंकज पाठक,सुंदरी खत्री जी, के अलावा अनेक गणमान्य लोगों द्वारा प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग किया गया है और उपस्थित भी रहे।

Post a Comment

0 Comments