रेडक्रॉस सोसायटी ने लगाया टीबी जागरूकता व जांच शिविर गुरुग्राम।

रेडक्रॉस सोसायटी ने लगाया टीबी जागरूकता व जांच शिविर

गुरुग्राम।

जिला रेडक्रॉस सोसायटी गुरुग्राम द्वारा गांव बंधवाड़ी व बलियावास के बीच में जंगल के क्षेत्र में स्लम एरिया में रहने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए उपायुक्त निशांत कुमार यादव एवं एडीसी हितेश कुमार मीणा, रेडक्रॉस हरियाणा प्रांत महासचिव डॉ मुकेश अग्रवाल के कुशल दिशा निर्देशन में सचिव विकास कुमार और डिप्टी सीएमओ डॉ. केशव शर्मा के मार्गदर्शन में टीबी मुक्त भारत-टीबी मुक्त गुरुग्राम कार्यक्रम के तहत टीबी रोग जागरुकता शिविर लगाया गया। 

 शिविर में लगभग 360 लोगों ने भाग लिया। शिविर का संचालन जिला टीबी कोऑर्डिनेटर रोहिताश शर्मा ने किया।

कार्यक्रम में जिला रेडक्रॉस सोसाइटी के सचिव विकास कुमार ने उपस्थित लोगों को टीबी की बिमारी के बचाव बताते हुए सभी को अपने घर व आसपास सफाई का विशेष ध्यान रखने के बारे में कहा ताकि गंदगी से उत्पन्न जीवाणुओं से बिमारियों को फैलने में रोकथाम मिले। सचिव विकास कुमार ने कहा कि आसपास में किसी भी व्यक्ति को टीबी के लक्षण नजर आए तो उनको नजदीकी सिविल अस्पताल, पीएचसी, सीएचसी जाने की सलाह दें ताकि उनको निशुल्क व उत्तम सुविधा का लाभ मिले। 

 शिविर में सभी प्रवासी महिला पुरूषों को टीबी रोग की सही जानकारी, लक्षण, बचाव के उपाय आदि पर संपूर्ण विस्तृत जानकारी दी। लोगों के सवालों के जवाब भी दिए गए जो जो शंकाएं थी, वह निवारण की गई। बताया गया कि इन सभी उचित जानकारियों का उपयोग करके हम सब समाज में टीबी रोकने की पहल करें , और अपने आसपास के लोगों को टीबी मुक्त रखने में अपना योगदान दें।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए रोहिताश शर्मा ने श्रीमती करुणांजलि जी (संस्थापक _करुणांजली फाऊंडेशन) का धन्यवाद किया कि उन्होंने इस पूरे कैंप को आयोजित करने में बहुत अच्छा सहयोग दिया। एस्टर डीएम फाउंडेशन ने दवाई वितरण व डॉ मनोज कुमार वर्मा ने मेडिकल जांच का बहुत उत्तम सहयोग किया। इसके साथ ही यहां 150 लोगों व 35 बच्चों ने स्वास्थ्य जांच व निशुल्क दवाओं का लाभ लिया। 

9 लोगों में क्षय रोग के लक्षण पाए गए, जिनका टीबी यूनिट ने सेंपल ले लिए, जिनकी रिपोर्ट सोमवार को आएगी। अंत में रोहिताश शर्मा ने सबको बताया कि अपने आसपास के समाज में क्षय रोग (टीबी) की सही सही जानकारी हम सभी लोगों को दें। किसी को लक्षण नजर आते हैं तो नजदीक के सरकारी चिकित्सा केंद्र पर जाकर अपनी जांच करवाएं और दवाइयां लें। लोगों को पूर्ण स्वस्थ रखें। 2025 तक प्रधानमंत्री के लक्ष्य अनुसार भारत को हम सबको मिलकर टीबी मुक्त करना है। उपस्थित सभी बच्चों को बिस्कुट और जूस का भी वितरण किया गया।

  वनीता पीटर, सुषमा रानी, कविता सरकार, मंजू शर्मा, सुमित आदि ने और रेडक्रॉस के आजीवन सदस्य जे. आर निषाद, मनोज सिंह चौहान ने शिविर को सफल बनाने में सराहनीय सहयोग किया।

Post a Comment

0 Comments