बच्चों को निकम्मा समझने की बजाय उसकी न्यूट्रिशन की कमी पूरी करें

 

पंजाब। डॉ अर्चिता महाजन न्यूट्रीशन डाइटिशियन एवं चाइल्ड केयर होम्योपैथिक फार्मासिस्ट एवं ट्रेंड योगा टीचर नॉमिनेटेड फॉर पद्म भूषण राष्ट्रीय पुरस्कार ने बताया कि कुछ बच्चों को स्टडी में फोकस करने में दिक्कत होती है और मां-बाप यह समझते हैं कि शायद यह नालायक है कभी कबार सही न्यूट्रिशन ना मिलने पर भी बच्चों को फोकस करने में दिक्कत होती है।

विटामिन बी कॉम्प्लेक्स की कमी से ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत हो सकती है. इन विटामिन में विटामिन बी1 थायमीन, विटामिन बी2 रिबोफ्लेविन, विटामिन बी3 नियासिन, विटामिन बी5 पैंटोथेनिक एसिड, विटामिन बी6 पायरीडॉक्सिन, विटामिन बी7 बायोटिन, विटामिन बी9 फोलेट और विटामिन बी12 कोबालमीन शामिल है. इन विटामिन बी कॉम्पलेक्स (Vitamin B Complex) की कमी दिमाग से जुड़ी परफोर्मेंस पर असर डालती है.बी1 (थियामिन): साबुत अनाज, फलियाँ,बी2 (राइबोफ्लेविन): डेयरी उत्पाद, दुबला मांस, और हरी पत्तेदार सब्जियाँ।बी3 (नियासिन): मांस, मछली, मूंगफली, और मशरूम।विटामिन बी कॉम्प्लेक्स के स्रोतों में टमाटर, भूसी दार गेहु का आटा, अण्डे की जर्दी, हरी पत्तियो के साग, बादाम, अखरोट, बिना पालिश किया चावल, पौधो के बीज, सुपारी, नारंगी, अंगूर, दूध, ताजे सेम, ताजे मटर, दाल, जिगर, वनस्पति साग सब्जी, आलू, मेवा, खमीर, मक्की, चना, नारियल, पिस्ता, ताजे मेवे , पत्ता गोभी, दही, पालक।


Post a Comment

0 Comments