डीएचबीवीएन के चीफ इंजिनियर से मिला पीएफटीआई का प्रतिनिधिमंडल

 डीएचबीवीएन के चीफ इंजिनियर से मिला पीएफटीआई का प्रतिनिधिमंडल

- सेक्टर-37 औद्योगिक क्षेत्र से संबंधित बिजली की समस्या पर की चर्चा

- चीफ इंजीनियर ने दिया आश्वासन, बिना सूचना के नहीं लगेगा कट

गुरुग्राम: प्रोग्रेसिव फेडरेशन ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (पीएफटीआई) का एक प्रतिनिधिमंडल बृहस्पतिवार को दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (डीएचबीवीएन ) के चीफ इंजीनियर श्री वीके अग्रवाल से उनके कार्यालय में मिला। इस दौरान डीएचबीवीएन की एसडीओ श्रीमती सुमन कश्यप भी उपस्थित रहीं। प्रतिनिधिमंडल में पीएफटीआई के चेयरमैन दीपक मैनी, वाइस चेयरमैन डॉ एसपी अग्रवाल, पीएफटीआई गुड़गांव चैप्टर के अध्यक्ष पीके गुप्ता, महासचिव राकेश बत्रा और पीएफटीआई कोर कमेटी के सदस्य डीपी गौड़ शामिल रहे। पीएफटीआई गुड़गांव चैप्टर के अध्यक्ष पीके गुप्ता और महासचिव राकेश बत्रा ने बताया कि चीफ इंजीनियर के साथ बड़े अच्छे और वातावरण में सकारात्मक बात हुई। उनके समक्ष सेक्टर-37 औद्योगिक क्षेत्र से संबंधित बिजली से जुड़ी समस्याओं को उठाया गया। इसमें मुख्य रूप से अघोषित पावर कट शामिल रहा। उन्हें अवगत कराया गया कि बार-बार पावर कट से उद्योगों को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। बिजली को लेकर आ रही समस्या से उद्यमियों को समय से आर्डर पूरा करने में बड़ी अड़चन का सामना करना पड़ता है। 

पीएफटीआई प्रतिनिधिमंडल के पक्ष को सुनने के बाद चीफ इंजीनियर ने आश्वासन दिया कि बिजली के कारण उद्योगों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। जो भी समस्याएं हैं उनका त्वरित समाधान किया जाएगा। वहीं बार-बार लग रहे पावर कट की समस्या को दूर किया जाएगा। उनसे यह भी अनुरोध किया गया कि स्मार्ट ग्रिड प्रोजेक्ट के अंतर्गत बिजली की केबल को अंडर ग्राउंड करने के काम को जल्द से जल्द पूरा कराया जाए। इसके लिए जो भी पावर कट तय होगा इसकी पूर्व सूचना उद्यमियों को एक दिन पहले लंच के समय तक दे दी जाएगी। जिससे उद्यमी अपने कामकाज को लेकर बेहतर व्यवस्था कर सकें। यह पावर कट केवल रविवार को दोपहर के बाद ही किया जाएगा। चीफ इंजीनियर ने आश्वासन दिया कि यदि वर्किंग डेज में यदि कभी मेंटिनेंस आदि के नाम पर बिजली काटने की जरूरत पड़ी तो यह सिर्फ सुबह छह से नौ बजे के बीच में लिया जाएगा।

पीएफटीआई गुड़गांव चैप्टर के पदाधिकारियों का कहना है कि बिजली को लेकर पिछले कई दिनों से समस्या आ रही है। इससे सेक्टर-37 औद्योगिक क्षेत्र में उद्यमी काफी परेशान हैं। उद्यमियों की इस समस्या के समाधान के लिए पीएफटीआई का प्रतिनिधिमंडल बिजली निगम के चीफ इंजीनियर से मिला और अपना पक्ष मजबूती से रखा। उम्मीद है कि जो भी आवश्वासन उनकी ओर से दिए गए हैं उस पर जमीनी स्तर पर अमल किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments