हरियाणा सफाई कर्मचारी आयोग को प्रदेश के कर्मचारियों के हितों की चिंता- कृष्ण कुमार

 हरियाणा सफाई कर्मचारी आयोग को प्रदेश के कर्मचारियों के हितों की चिंता- कृष्ण कुमार

- सफाई कर्मियों के एचकेआरएन में शामिल होने के बाद ठेका प्रथा से मिलेगी निजात- कृष्ण कुमार

- सफाई कर्मचारी आयोग बनने के बाद से मिलने लगा कर्मचारियों को उनका हक- कुमार

- ठेकेदारों के बहकावे में न आए सफाई कर्मचारी।

11 दिसंबर, मानेसर।

हरियाणा सफाई कर्मचारी आयोग के चेयरमैन कृष्ण कुमार सोमवार को मानेसर नगर निगम के सफाई कर्मचारियों से रूबरू होने मानेसर पहुंचे। उन्होंने सफाई कर्मचारियों से सीधे बातचीत की। आयोग की योजना और नीतियों के बारे में भी अवगत कराया।इसके बाद उन्होंने मानेसर नगर निगम कार्यालय पहुंचकर आयुक्त अशोक कुमार गर्ग से मुलाकात भी की। 

मानेसर नगर निगम की ओर से गांव नौरंगपुर वाटिका में सफाई कर्मचारियों के साथ संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। उनके यहां पहुंचने पर संयुक्त आयुक्त दिनेश कुमार ने उनका पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। इस दौरान चेयरमैन कृष्ण कुमार ने कर्मचारियों से उनकी समस्याओं को जाना और आयोग की ओर से किए जा रहे कर्मचारियों के हितों के कार्यों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा सफाई कर्मचारियों के साथ संवाद में पूरे प्रदेश में उनका यह 48वां कार्यक्रम है। आयोग की ओर से वे प्रदेश के सभी जिलों में सफाई कर्मचारियों से उनकी समस्याओं को जानने के लिए सीधा संवाद स्थापित कर रहें हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश में कर्मचारियों के हितों में अनेक कार्य किए है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ठेकेदारी प्रथा को खत्म करने के लिए हरियाणा कौशल रोजगार निगम(एचकेआरएन) का गठन किया। एचकेआरएन में शामिल होने के बाद प्रदेश में कर्मचारियों को समय पर सैलरी मिल रही है। 



पहले ठेकेदार या बिचैलिए कर्मचारियों के हक का पैसा खा जाते थे, लेकिन एचकेआरएन के गठन के बाद कर्मचारियों को समय पर और पूरा पैसा उनके खातों में भेजा जा रहा है। पहले ठेकेदार कर्मचारियों का ईएसआई और पीएफ का पैसा तो काट लेते थे, परंतु उस पैसे को विभागों में जमा नहीं करवाते थे। एचकेआरएन में शामिल होेने के बाद से एक-एक पैसे का हिसाब कर्मचारियों के पास है। सफाई कर्मचारियों को भी एचकेआरएन में शामिल किए जाने की योजना रही थी, परंतु कुछेक सफाई कर्मचारी संगठनों ने कर्मचारियों को भ्रमित करके उन्हें शामिल नहीं होने दिया। ऐसा होने से कर्मचारियों का नुकसान हो रहा है। आयोग की प्रबल इच्छा है कि अब सफाई कर्मचारियों को एचकेआरएन में शामिल किया जाए,ताकि कर्मचारियों के हितों की रक्षा की जा सके। इस दौरान अखिल भारतीय सफाई कर्मचारी कल्याण संघ की ओर से उन्हें एक मांग पत्र सौंपा गया।

इस दौरान उनके साथ मानेसर नगर निगम के सेनिटेशन आॅफिसर एमएस सोढ़ी, स्वच्छ भारत मिशन के एसडीओ शशिकांत, सीनियर सेनिटरी इंस्पेक्टर विजय कौशिक, सेनिटरी इंस्पेक्टर मनोज कुमार, सुमित कुमार सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।


--------------

Post a Comment

0 Comments