शिक्षक की बेटी यशिका का एनडीए में लेफ्टिनेंट के पद पर हुआ चयन

शिक्षक की बेटी यशिका का एनडीए में लेफ्टिनेंट के पद पर हुआ चयन

-टॉप-5 में शामिल होकर यशिका ने किया परिवार, प्रदेश का नाम रोशन

गुरुग्राम। शिक्षक पिता देवेंद्र लोहचब की बेटी यशिका लोहचब का एनडीए में लेफ्टिनेंट के पद पर चयन हुआ है। एनडीए की परीक्षा में यशिका टॉप-5 में शामिल रही हैं। बेटी की इस उपलब्धि पर परिवार ही नहीं, उनके जानने वालों ने भी खुशी मनाई। साथ ही परिवार को बेटी की इस उपलब्धि की बधाई दी। 

मूलरूप से झज्जर जिला की बादली तहसील के गांव बूपनिया के रहने वाले यशिका के पिता देवेंद्र लोहचब फिलहाल परिवार के साथ देव नगर बहादुरगढ़ में रहते हैं। वे गुरुग्राम के डूंडाहेड़ा गांव के राजकीय माध्यमिक संस्कृति प्राथमिक स्कूल में शिक्षक हैं। देवेंद्र लोहचब ने बताया कि यशिका ने एनडीए की लिखित परीक्षा में लड़कियों की श्रेणी में हाइएस्ट अंक हासिल किए हैं। उसका ऑल इंडिया 31वां रैंक आया है, जो कि बड़ी उपलब्धि है। लड़कियों की श्रेणी में यशिका टॉप-5 में शामिल रही है। पिता ने बेटी की इस उपलब्धि पर गर्व करते हुए कहा कि बेटी ने परिवार ही नहीं अपने प्रदेश हरियाणा का नाम गौरवान्वित किया है। 

बेटी पर हमें गर्व है। उन्होंने कहा कि बेटियों से ही हमारा नाम रोशन हो रहा है। हर क्षेत्र में बेटियों ने प्रदेश को गौरवान्वित किया है। खेल हो या सेना, शिक्षण हो या उद्योग, पायलट और न जाने कितने क्षेत्रों में बेटियां अपना परचम लहरा रही हैं। हमें बेटियों पर गर्व होना चाहिए। यशिका ने अपनी उपलब्धि का श्रेय माता-पिता और उन तमाम लोगों को दिया है, जो बेटियों को सम्मान देते हैं। यशिका कहती हैं कि बेटियों को ना तो कोख में मारें और ना ही उनसे नफरत करें। बेटियां अपनी किस्मत से बेहतर प्रदर्शन हर क्षेत्र में कर रही हैं। कुछ भी ना दे सकें तो बेटियों को सिर्फ हौंसला दें। वे अपने आप ही आगे बढ़ जाएंगी। अपने हरियाणा को बेटियों के नाम से जाना जाने लगा है। बेटियों ने हर क्षेत्र में हरियाणा का गौरव बढ़ाया है। इसलिए अब बेटियों के प्रति समाज की सोच बदलनी ही चाहिए।

Post a Comment

0 Comments