महिलाओं को सेल्फ डिफेंस के गुर सिखाए गए

 "बेटियों को अबला नहीं

उन्हें सबला बनाओ ।।

अपने विरूद्ध होने वाले अत्याचारों से

खुद ही लड़ना सिखाओ ।"

गुरुग्राम शहर को एक महिलाओं के लिए सुरक्षित शहर के तौर पर तैयार करना गुरुग्राम पुलिस के आयुक्त श्री विकास अरोड़ा जी की प्राथमिकता है।  

इसी कार्यक्रम के तहत जिले में महिला सुरक्षा के लिए कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं जिसके अंतर्गत आज जीवन ज्योति विद्या मंदिर पब्लिक स्कूल, राठीवास जाट में इस कार्यशाला का आयोजन किया गया।

इस मौके पर बिलासपुर पुलिस स्टेशन की महिला पुलिसकर्मियों ने शिरकत की। 

श्रीमती संगीता दास जो कि हरियाणा शिक्षा विभाग में सहायक निदेशक के पद पर रही है, ने मुख्य वक्ता के रूप में  हिस्सा लिया तथा स्कूल की बच्चियों एवं महिला स्टाफ को विभिन्न प्रकार की सुरक्षा एवं  कानूनी जानकारियां दी। 

बच्चियों को सेल्फ डिफेंस भी सिखाया गया तथा फोन पर सोशल नेटवर्क साइटों के जाल से बच कर रहने की बातें समझाई गईं।

उन्होंने बताया कि महिला सुरक्षा में रणनीतियाँ, प्रथाएँ और नीतियाँ शामिल हैं जिनका उद्देश्य लिंग आधारित हिंसा को कम करना है, जिसमें महिलाओं में अपराध का डर भी शामिल है। वर्कशॉप के दौरान महिलाओं की सुरक्षा के  लिए कानून में किए गए प्रावधान के बारे में बताकर उनको जागरूक किया गया। महिलाओं को मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना के खिलाफ आवाज उठाने के लिए भी जागरूक किया गया। इस कार्यक्रम में स्कूल की निर्देशिका श्रीमती सरलेश तथा स्कूल के प्रिंसिपल श्री करण यादव उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments