उपभोक्ताओं की सुविधाओं का ध्यान रखें - पीसी मीणा

उपभोक्ताओं की सुविधाओं का ध्यान रखें - पीसी मीणा

प्रबंध निदेशक ने ऑपरेशनल रिव्यू बैठक में दिए सुधार के निर्देश*

गुरुग्राम, 30 जनवरी 2024 ।

प्रबंध निदेशक पीसी मीणा ने दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के विद्युत सदन में हिसार जोन के सभी ऑपरेशन सर्कल की ऑपरेशनल रिव्यू बैठक (ओआरसी) ली। 

उन्होंने हिसार, भिवानी, फतेहबाद ऑपरेशन सर्कल की अलग-अलग ओआरसी में सभी अधिकारियों के साथ सिलसिले वार सभी बिंदुओं पर समीक्षा की। इसमें बिजली निगम के पैरामीटर को बनाए रखने और निगम द्वारा करवाए जा रहे सभी विकास कार्यों बारे विवरण दिया गया।

प्रबंध निदेशक ने बिजली उपभोक्ताओं की सुविधाओं का ध्यान रखते हुए उनके संतुष्टीकरण पर जोर दिया। उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा एवं सुचारु बिजली आपूर्ति करने के लिए करवाए जा रहे सभी विकास कार्यों का जायजा लिया ताकि उनको बिजली सुविधाओं का बेहतर लाभ दिया जा सके। 

उन्होंने उपभोक्ताओं की बिजली संबंधित शिकायतों एवं समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए जरूरत अनुसार अन्य वाहन देने की अनुमति दी।

प्रबंध निदेशक पीसी मीणा ने मौजूदा वित्त वर्ष में ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने की गति को तेज करने, ठीक बिल जारी करने की दर बढ़ाने, बंद व खराब मीटर बदलने, गलत बिल को ठीक करने, डीएचबीवीएन के लाइन लॉस, वितरण सहित एटीएंडसी लॉस कम करने, ट्रांसफॉर्मर क्षतिग्रस्त दर कम करने, राशि वसूली एवं संग्रह क्षमता बढ़ाने, चोरी पकड़ने आदि की समीक्षा करते हुए इसमें सुधार करने के निर्देश दिए।

उन्होंने परिचालन मापदंडों की समीक्षा के दौरान सभी अधिकारियों को निर्देश दिए गए वे उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा देने और निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अधिकतम प्रयास करें, अन्यथा वे व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे।

संज्ञान में आया है कि अधिकांश अधिकारियों ने अपने मापदंडों को नहीं देखा है, जिसे बैठक में गंभीरता से लिया गया है। खराब प्रगति के कारण ऑपरेशन सब-डिवीजन नारनौंद, जुई, सांजरवास और उकलाना के एसडीओ और सब-ऑफिस सिसाय के जेई-1 को मेजर हेड में चार्जशीट किया गया। 

प्रबंध निदेशक ने ऑपरेशन सर्कल के सभी अधिकारियों के साथ सिलसिले वार सभी बिंदुओं पर समीक्षा की। इस बैठक में सभी बिंदुओं पर विचार विमर्श किया गया। बैंक में प्रेषण (आरआईबी), राजस्व लक्ष्य की स्थिति और लक्ष्य प्राप्ति की स्थिति तय की गई। एटीएंडसी/वितरण हानियों और संग्रह दक्षता की स्थिति, वितरण ट्रांसफार्मरों के क्षतिग्रस्त होने की स्थिति (क्षति दर), 'म्हारा गांव, जगमग गांव' योजना के तहत स्थिति व प्रगति, फीडरों की हानि। एलआरपी (शहरी फीडर) की स्थिति व इसके नुकसान, बकाया राशि की स्थिति व उसके बढ़ने के कारण, सरकार के विभागों पर बकाया के समाधान की स्थिति, सोशल मीडिया, जन संवाद पोर्टल आदि की गतिविधियों की स्थिति व प्रदर्शन, नया कनेक्शन का विवरण लिया गया। एमसीओ, पीडीसीओ, बढ़े हुए बिलों के लंबित होने की स्थिति, चोरी का पता लगाने की स्थिति, उप केन्द्रों, फीडरों एवं वितरण ट्रांसफार्मरों के निवारक व अनुरक्षण की स्थिति, खराब मीटर, इलेक्ट्रो मैकेनिकल मीटर के प्रतिस्थापन की स्थिति, ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने की स्थिति सुझाव व टिप्पणियां आदि की समीक्षा भी की गई।

बैठक में डीएचबीवीएन के निदेशक सुरेश बंसल, चीफ इंजीनियर ऑपरेशन नवीन वर्मा, एसई सीबीओ कृष्ण स्वरूप, एसई कमर्शियल एसके सिंह, एसई एमएम एफआर नकवी, एसई हिसार ओमबीर, एसई भिवानी एसएस कंटूरा, एसई फतेहबाद संजीव शंकर राय, कार्यकारी अभियंता मॉनिटरिंग प्रदीप ढुल, सीबीओ के एचएस जाखड़ सहित हिसार, भिवानी, फतेहाबाद ऑपरेशन सर्कल के सभी कार्यकारी अभियंता एवं उपमंडल अधिकारी आदि उपस्थित रहे।


फोटो: डीएचबीवीएन के प्रबंध निदेशक पीसी मीणा ऑपरेशनल रिव्यू कमेटी (ओआरसी) में निर्देश देते हुए।

Post a Comment

0 Comments