उधमी एवम श्रमिक एक ही सिक्के के दो पहलू है। दोनों एक दूसरे के पूरक है- डॉ बांगड़

उधमी एवम श्रमिक एक ही सिक्के के दो पहलू है। दोनों एक दूसरे के पूरक है- डॉ बांगड़

ओधोगिक एरिया में कानून व्यवस्था दुरुस्त की जाएगी- दीपक गहलावत

उधोगो ओर श्रमिको के बीच दोस्ताना संबंध बनाने पर जोर दिया जाएगा-कुशल कटारिया

उधोगो के साथ साथ श्रमिको के वेलफेयर को भी देखना चाहिए।- सीकरी

 ओधोगिक श्रमिको हेतु प्रोग्रेसिव फेडरेशन ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित किया गया था भंडारा एवं कंबल वितरण समारोह

गुरूग्राम, 13 जनवरी। नगर निगम गुरूग्राम के आयुक्त डा. नरहरि सिंह बांगड़ ने शनिवार को सेक्टर-37 स्थित पेस सिटी-2 में प्रोग्रेसिव फेडरेशन ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित भंडारा एवं कंबल वितरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। उन्होंने जरूरतमंदों को कंबल वितरित करके लोहड़ी व मकर सक्रांति की बधाई भी दी। कार्यक्रम में राम अन्न कलश स्थापना भी की गई, जिसमें सभी ने अन्न का दान किया। यह अन्न 22 जनवरी को अयोध्या में आयोजित श्रीराम मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव में जाएगा, जिसका प्रसाद बनाकर वितरित किया जाएगा। अन्न दान की कार्यवाही उत्तर भारत के विद्वान ब्राह्मण पंडित हरिओम द्वारा मंत्रोचारण के साथ कि गई।

अपने संबोधन में निगमायुक्त डॉ बांगड़ ने कहा कि देश के विकास में श्रमिकों ओर उधोगो का अहम योगदान है।उन्होंने कहा कि उद्योगपतियों द्वारा आयोजित इस प्रकार के कार्यक्रमों से मालिक और श्रमिक के बीच बेहतर तालमेल बढ़ता है तथा इससे आर्थिक, सामाजिक और जातिगत भेदभाव को खत्म करने में मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि हालांकि चाहे इंडस्ट्री हो या सरकारी विभाग लीडरशिप एक ही होती है, लेकिन विकास में बड़े से लेकर छोटे कर्मचारी तक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि एक बड़ी मशीन को चलाने में जितना योगदान बड़े पुर्जों का होता है, उतना ही योगदान छोटे पुर्जों का भी होता है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के मौके आपसी सदभाव की भावना को बढ़ाते हैं।

कार्यक्रम में डीसीपी हेडक्वार्टर दीपक गहलावत ने भी अपने विचार रखते हुए कहा कि उधोगो को हर प्रकार की सुरक्षा प्रदान करने के लिए गुरुग्राम पुलिस वचनबद्ध है, उन्होंने कहा कि उधमी बिना भय के अपने उत्पादन में बढोतरिकरके देश के विकास में सहायक बने। कार्यक्रम में बतौर विशेष अतिथि एडिशनल लेबर कमिश्नर कुशल कटारिया ने उपास्थि सैंकड़ो उधोगपतियों ओर श्रमिको को संबोधित करए हुए कहा कि कार्यस्थल पर श्रमिक ओर प्रबंधन के बीच सौहार्दपूर्ण ओर दोस्ताना संबंध बनाने पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पीएफटीआई का इस तरह का कार्यक्रम ओधोगिक शांति की तरफ बढ़ता कदम है।कार्यक्रम में पीएफटीआई के पैटर्न इन चीफ बोधराज सीकरी ने शुभकामनाएं देते हुए कार्यक्रम को लेबर वेलफेयर की ओर बढ़ते कदम बताया। उन्होंने कहा कि उधोगो के साथ साथ हमे आने कर्मचारियों के हिट भी देखना चाहिए। मंच का सफल संचालन श्रम कानून सलाहकार एडवोकेट आरएल शर्मा द्वारा किया गया, जबकि पीएफटीआई के चेयरमैन दीपक मैनी ने आए हुए अतिथियों का स्वागत व धन्यवाद किया। कार्यक्रम में रोटी बैंक के संचालक सेवानिवृत इंस्पैक्टर चंद्रप्रकाश भारद्वाज, पंडित हरिओम शर्मा तथा डा. परमेश्वर अरोड़ा को उनके द्वारा किये गए सामाजिक कार्यो के लिए निगमायुक्त द्वारा सम्मानित किया गया। अतिथियों द्वारा नगर निगम गुरूग्राम के स्वच्छता कर्मियों ओर जरूरतमंद लोगों को लगभग 250 कंबल भेंट किए गए।

इस मौके पर नगर निगम गुरूग्राम के सीटीपी सतीश पराशर, पीएफटीआई के पैट्रन हरीश घई, चेयरमैन दीपक मैनी, वाईस चेयरमैन एसपी अग्रवाल, लेबर लॉ एडवाईजर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं पीएफटीआई के डायरेक्टर आरएल शर्मा एडवोकेट व डा. अंशुल ढींगड़ा, अशोक कोहली, परवीन यादव, चंदर मुंजाल, विनय गुप्ता, विनोद गुप्ता, विनोद पहिलजनी, संजय जैन,अंकुर जैन, एनआरआई प्रमोद राघव, पीके गुप्ता, डीपी गौड़, रमनदीप सिंह, सरदार हरभजन सिंह, राजकुमार त्यागी, मोहमद हारून, धर्मेंद्र फौजी, मुनीश गुप्ता,डॉ के के अग्रवाल , विनोद अग्रवाल, संजीव चोपड़ा, राजेन्द्र सैनी, जीपी गुप्ता, अमन गुप्ता, विनोद नाकारा, सुनील कथूरिया, राजीव पराशर, दुर्गेश वाधवा, फिल्म स्टार राज चौहान सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments